पुदीना के तेल के उपयोग और फायदे – Pepermint Oil Benefits in Hindi

पुदीना के तेल के उपयोग और फायदे : पुदीने के बहुत से फायदे होते हैं इसमें एंटीमाइक्रोबायल गुण होते हैं | पुदिना में बहुत से औषधीय गुण होते हैं जो की हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होते हैं | पुदिना के तेल के फायदे शरीर के साथ साथ हमारी त्वचा और बालों के लिए भी होते हैं | पुदीने के तेल को पेपरमिंट ऑइल के नाम से भी जाना जाता है |

इसका उपयोग कई समस्याओं के इलाज के लिए भी किया जाता है और इसके अलावा इसको मुंह का स्वाद बढाने के लिए भी किया जाता है | साथ ही इसका उपयोग पाचन सबंधी समस्याओं के लिए, सर दर्द के लिए और तनाव के लिए भी किया जाता है | आइये हम आपको बताते हैं पुदीने के तेल के फायदे और उपयोग का सही तरीका 

पुदीना के तेल के फायदे इन हिंदी – Peppermint Oil Benefits in Hindi

पुदीने के तेल के बहुत से फायदे होते है शरीर के रोगों के साथ त्वचा और बालों के लिए भी इसके फायदे होते है आइये जानते हैं इसके फायदे और उपयोग 

1. तनाव और सर दर्द के लिए : ज्यादा चिंता के कारण हो रहे सिर दर्द के साथ साथ शरीर की थकान को कम करने के लिए यह बहुत उपयोगी होता है | ऐसा माना जाता है के पुदीने के तेल से सिर की मालिश करने से सेंट्रल नर्वेस सिस्टम पर अच्छा प्रभाव पडता है जो तनाव और थकन के कारण हो रहे दर्द से आराम देता है |

2. मांसपेशियों को आराम दे : पुदीने के तेल का उपयोग करने से मांसपेशियों को आराम मिलता है और थकान भी कम होती है | पुदीने में एंटी-स्पास्मोडिक (Antispasmodic) और दर्द निवारक गुण पाए जाते हैं जो हमारी मांसपेशियों की एठन और दर्द को दूर करते हैं |

3. रक्त संचार बढाए : पुदीने के तेल से शरीर की मालिश करने से आपका रक्त संचार बढ़ता है और बेहतर तरीके से काम करता है | इस तेल में मौजूद मेंथोल त्वचा में आसानी से अब्सोर्ब हो जाता है और आपका रक्त संचार को बड़ा देता है |

4. रंग साफ़ करने में उपयोगी : धुप के कारण युवी किरणों से रंग काला पड जाता है इसके लिए पेपरमिंट ऑइल में पाए जाने वाले विटामिन जैसे विटामिन सी त्वचा का रंग साफ़ करने में उपयोगी होते हैं | इसका उपयोग करने के लिए आप हथेली में 2 से 4 बूंदे लेकर हलके हाथ से चेहरे की मसाज करें |

5. पाचन शक्ति को बेहतर करें : इस तेल का उपयोग बहुत समय से पाचन तंत्र को बेहतर करने के लिए किया जाता रहा है | इसका उपयोग पाचन क्रिया, डायरिया, और बच्चो की पाचन की समस्या का इलाज करने के लिए किया जाता रहा है | 

6. बालों को बढ़ने में मदद करे : पुदीने के तेल में ऐसा बहुत से पोषक तत्त्व होते हैं जो बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने में भी उपयोगी होते हैं | इसमें विटामिन-सी, आयरन और जिंक होते हैं जो की बालों को पोषण देते हैं और बालों को प्रदुषण के प्रभावों से भी बचाते हैं | 

7. मतली में आरामदायक : एक शोध में देखा गया के जी मचलाने से आराम देने के लिए पेपरमिंट ऑइल फायदेमंद होता है | इसका उपयोग करके यह यह देखा गया के इस तेल में अरोमाथेरेपी लेने से मतली की समस्या में आराम मिलता है | 

8. बुखार में भी है उपयोगी : पुदीने के तेल का उपयोग आप बुखार के दौरान भी कर सकते हैं इसकी तासीर ठंडी होती है | बहुत से लोग बुखार को शांत करने के लिए इसका उपयोग करते हैं अगर आप भी सिका उपयोग बुखार शांत करने के लिए करना चाहते हैं तो सबसे प्रभाव शाली तरीका है इससे अपनी छाती की मालिश करना | अगर आप इसमें कोई और तेल मिलाकर मालिश करते है तो सेंसिटिव जगह पर इससे होने वाली जलन से बच सकते हैं | 

9. मुंह की बदबू दूर करने के लिए उपयोगी : पुदीने के तेल का उपयोग ताज़ा स्वाद के लिए आमतौर पर सभी टूथपेस्ट में किया जाता है | अगर आपको ब्रश करने के बाद ताज़गी का एहसास ना हो तो आप अपने टूथपेस्ट में इसको मिला सकते हैं | अपने टूथपेस्ट में पुदीने के तेल की दो बूंदे डाल कर इस्तेमाल कर सकते हैं इससे आप मुंह की बदबू और दांतों की समस्या से दूर रहेंगे |

10. इम्यून सिस्टम को मज़बूत करे : पुदीने में अधिक मात्रा में एंटीओक्सिडेंट पाए जाते हैं जो की हमारे इम्यून सिस्टम को बेहतर करने के लिए बहुत उपयोगी माने जाते हैं | इस तेल का उपयोग करने से यह बहुत सी बीमारियों से बचाव करता है और इसमें एंटीफंगल गुण होते हैं अन्य तरह के संक्रमण से भी बचाव करते हैं |

पुदीने के तेल का उपयोग कैसे करें – How to Use Pepermint Oil in Hindi

  • आप इस तेल से मांसपेशियों की मसाज कर सकते हैं |
  • स्कैल्प की मसाज कर सकते हैं |
  • हेयर मास्क के जैसे आप इसका उपयोग करें |
  • मॉइस्चराइजर में मिलाकर भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं |
  • फेस पैक की तरह भी आप इसको उपयोग कर सकते हैं |

आशा करता हूँ आपको यह पोस्ट पुदीना के तेल के उपयोग और फायदे अच्छी लगी हो अगर आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद आई तो इसे शेयर करें और हमें कमेंट में ज़रूर बताएं |

Leave a Comment