सरसों के बीज के फायदे और उपयोग : Mustard Seeds Benefits and Side Effects in Hindi

सरसों के बीज के फायदे और उपयोग का सही तरीका इन हिंदी : सरसों के बीज भारतीये व्यंजनों में तड़का लगाने के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं | यह बीज कई बीमारियों के इलाज के लिए लाभकारी साबित होते हैं | सरसों के बीज में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं इसमें एंटीओक्सिडेंट, फाइबर, प्रोटीन, फैट, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, विटामिन-सी, विटामिन-ए, विटामिन-ई, फोलेट, और कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं | 

सरसों तीन प्रकार की होती है : काली सरसों,भूरी सरसों और पीली सरसों | सरसों मांसपेशियों के दर्द सोरायसिस, दाद और सांस फूलने की समस्या में राहत प्रदान करता है | सरसों के बीज मांसपेशियों के साथ-साथ वज़न कम करने के लिए भी उपयोगी साबित होते हैं | सरसों आपकी पाचन क्रिया को भी दुरुस्त करती है | आइये जानते है सरसों के बीज फायदे और उपयोग का सही तरीका इन हिंदी

सरसों के बीज के फायदे : Benefits Of Mustard Seeds in Hindi

1. ह्रदय स्वास्थ के लिए सरसों के फायदे : सरसों के तेल का इस्तेमाल खाना पकाने के लिए लगभग सभी रसोइयों में किया जाता है | यह दिल से सम्बंधित समस्याओं को दूर करने के लिए बहुत लाभकारी साबित होता है | कुछ अध्ययनों के अनुसार सरसों में हार्ट अटैक, छाती के दर्द और दिल की बिमारी को ठीक करने की पूरी क्षमता होती है | सरसों का सेवन करना हार्ट अटैक के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी साबित होता है |

2. कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के लिए सरसों बहुत लाभकारी साबित होता है : कोलेस्ट्रोल की समस्या से अधिकतर लोग परेशान हैं बड़े हुए कोलेस्ट्रोल से सभी छुटकारा पाना चाहते हैं | सरसों का साग कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए बहुत लाभकारी होता है | कुछ अध्ययनों के मुताबिक सरसों में पाचन तंत्र मौजूद बाइल एसिड को रोकने की अच्छी क्षमता होती है | यह प्रक्रिया शरीर में बड़े हुए कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए होती है |

3. वज़न कम करने में भी बहुत सहयोगी : आज के समय में बड़े हुए वज़न से बहुत से लोग परेशान हैं और बड़े हुए वज़न के कारण कुछ गंभीर बिमारियों का सामना करना पड़ सकता है | वज़न कम करने के लिए लोग बहुत से तरीके अपनाते हैं कुछ लोग एक्सरसाइज़ करते हैं तो कोई सुबह में रनिंग पर जाते हैं | सरसों के बीज के तेल में पाया जाने वाले पोषक तत्त्व बड़े हुए वज़न को कम करने मने बहुत सहयोगी साबित होते हैं |

4. डायबिटीज़ की समस्या को दूर करने में भी लाभकारी : सरसों के तेल का उपयोग ग्लाइकोसाइलेटेड प्रोटीन और सीरम ग्लूकोज़ के स्तर को कम करने के लिएय मददगार होता है | सरसों का साग डायबिटीज़ के रोगी के लिए बहुत उपयोगी होता है | कुछ अध्ययनों के मुताबिक सरसों के पौधे में एंटी ओक्सिडेंट होते हैं जो की डायबिटीज़ में ऑक्सीडेटिव तनाव से होने वाली क्षति से बचाव करता है |

5. त्वचा के लिए फायदेमंद : सरसों में आपकी त्वचा को निखारने के भी गुण मौजूद होते हैं और अगर आप सरसों के तेल में मेंहदी की पत्तियां उबालकर बालो में लगायें तो आपके बाल तेज़ी से बढ़ना शुरू हो जायेंगे | त्वचा के लिए आप एक लीटर नारियल का तेल लें और उसमे मुट्ठी भर सरसों के दाने मिला लें फिर उसको उबाल लें | उसके बाद तेल ठंडा होने के लिए रख दें फिर इसको छान कर आप त्वचा पर लगा सकते हैं इससे आपकी त्वचा का रंग साफ़ होगा |

सरसों के बीज का उपयोग कैसे करें 

1. ज़्यादातर लोग सरसों के बीज और तेल का इस्तेमाल अधिकतर दाल या सब्जी में छौका लगाने के लिए करते हैं | इसके साथ ही पकौड़ी और पापड़ तलने के लिए भी सरसों के तेल का ही इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है |

2. सरसों के तेल का इस्तेमाल खाना पकाने में भी सबसे ज्यादा होता है और साथ ही इसका इस्तेमाल त्वचा पर लगाने के लिए बालों के लिए और शरीर पर मालिश करने के लिए भी होता है |

आशा करता हूँ आपको यह पोस्ट सरसों के बीज के फायदे और उपयोग अच्छी लगी हो अगर आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद आई तो इसे शेयर करें और हमें कमेंट में ज़रूर बताएं |

Leave a Comment